यादें

यादेंयादों का क्या है,
जब चाहे तब चली आती हैं,
हम तो इन्हे कभी नहीं बुलाते,
पर क्या करे ?

जब भी तन्हा होता हूँ,
आकर हमे गले से लगा लेती हैं,
आप तो सोहबत में आये ना कभी,
इन यादों का ही तो सहारा है,
यादों का ही तो भरोसा है,
और ये यादें,
खूबसूरत यादें,
प्यारी यादें,

Continue reading